HomeLife Styleगणतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

गणतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

गणतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं :

सबसे पहले 72वीं गणतंत्रता दिवस की आप सबको हार्दिक शुभकामनाएं। गणतंत्र दिवस भारत में राष्ट्रीय पर्व कि तरह प्रति वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता हैं। देश कि आजादी के करीब ढाई साल बाद 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू हुआ था।

जिसमें 395 अनुच्छेद, 8 अनुसूची और 22 हिस्से थे। यह दुनिया का सबसे विस्तृत लिखित संविधान है। इसी दिन सन् 1950 को भारत का संविधान लागू किया गया था। 26 जनवरी के इस दिन को इसलिए चुना गया था क्योंकि 1930 में इसी दिन भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने भारत को पूर्ण स्वराज घोषित किया था।

यह भारत के 3 राष्ट्रीय अवशेष में से एक है, अन्य दो स्वतंत्रता दिवस और गांधी जयंती है। 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोह पर भारत के राष्ट्रपति द्वारा भारतीय राज्य ध्वज को फहराना और राष्ट्रगान को गाना यह तो हम सभी जानते हैं पर कुछ ऐसी अनोखी बातें है जो हम सब नहीं जानते हैं, तो चलिए जानते हैं कुछ ऐसी ही अनोखी बातें –

पहली बार राष्ट्रीय ध्वज 7 अगस्त 1906 को कोलकाता के पारसी बागान चौक पर फहराया गया था।यह ध्वज लाल, पीला और हरे रंग का क्षतिज पट्टी से बना था जिसके शीर्ष पर आठ सफेद कमल के पंक्ति में थे और नीचे की तरफ एक सफेद सूरज और अर्धचंद्र था।

भारत 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्र हुआ था। स्वतंत्रता के बाद भी देश के पास अपना संविधान नहीं था। संविधान लागू होने से पहले देश में भारत सरकार अधिनियम 1935 लागू था। स्थायी संविधान और स्वयं की शासन निकाय की आवश्यकता को महसूस करते हुए, भारत सरकार ने 28 अगस्त 1947 को एक समिति का गठन किया, जिसके अध्यक्ष डॉ बी आर अंबेडकर को चुना गया।

लगभग 3 वर्ष के मंथन के बाद संसद को 308 सदस्यों के कई परामर्श और कुछ संशोधनों के बाद अंततः 24 जनवरी 1950 को संविधान पर हस्ताक्षर किए, जिसे 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया। तब से ही भारत में इस दिन हर साल गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।

क्या आप जानते हैं के हमारे तिरंगे झंडे के बीच में जो अशोक चक्र हैउसके 24 तिलिया हर एक भारतीय में समाए चरित्र को दर्शाता है?

जो कि है –

आशा, स्नेह, साहस, धीरज, शांतिपूर्णता, दयालुता, भलाई, भक्ति, सत्यता, आत्मा संयम, निस्वार्थता, आत्मा परित्याग, सत्यवादीता, धार्मिकता, न्याय, करुणा, कृपालुता, नम्रता, संवेदना, सहानुभूति, सर्वोच्च ज्ञान, परम बुद्धि, श्रेष्ठ नैतिकता, और परोपकारीता। देशके राष्ट्रीय त्योहारों में से एक गणतंत्र दिवस के दिन देशवासी स्वतंत्रता सेनानियों व वीर योद्धाओं का नाम स्मरण करते हैं हर वर्ष इस दिन राष्ट्रपति तिरंगा झंडा फहराते हैं।

और 21 तोपों की सलामी दी जाती है रिपब्लिक डे पर देश में राष्ट्रीय अवकाश घोषित है।कई संस्थानोंमैं इस दिन रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाता है। सबसे बड़ा समारोह दिल्ली में राष्ट्रपति भवन के पास मनाया जाता। चलिए हम सब इस पर्व को खुशी और उल्लास से मनाए।

जय हिन्द… जय भारत

Also Read : Agra Travel

Miss Samyhttps://theflashtimes.com
Miss Samy is an Author and Co- Founder of this company named The Flash Times. Before she started writing blogs and articles for Flash Times, she used to work in Health Care Sector saving other peoples lives. Then she decides to follow her dreams. She is a website designer, administrative, an amazing blog writer. Her latest work you can read in www.TheFlashTimes.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read